Zamana Yeh Samjha C. Ramchandra Lyrics

Album Name Anarkali
Artist C. Ramchandra
Track Name Zamana Yeh Samjha
Music C. Ramchandra
Label Saregama
Release Year 1953
Duration 05:02
Release Date 1953-01-01

Zamana Yeh Samjha Lyrics

मेरी तक़दीर मुझे आज कहाँ लाई है?
शीशा-शीशा जहाँ, मेरा ही तमाशाई है

मुझे इल्ज़ाम ना देना मेरी बेहोशी का
मुझे इल्ज़ाम ना देना मेरी बेहोशी का
मेरी मजबूर मोहब्बत की ये रुसवाई है

मोहब्बत में ऐसे क़दम डगमगाए
ज़माना ये समझा कि हम पी के आए, पी के आए
मोहब्बत में ऐसे क़दम डगमगाए
ज़माना ये समझा कि हम पी के आए, पी के आए

जिसे काम हो रात-दिन आँसुओं से
जिसे काम हो रात-दिन आँसुओं से
उसे हुक्म ये है, हँसे और हँसाए
उसे हुक्म ये है, हँसे और हँसाए
ज़माना ये समझा कि हम पी के आए, पी के आए

किसी की मोहब्बत में मजबूर हो कर
किसी की मोहब्बत में मजबूर हो कर
हम उन तक तो पहुँचे, वो हम तक ना आए
हम उन तक तो पहुँचे, वो हम तक ना आए
ज़माना ये समझा कि हम पी के आए, पी के आए

वो जिनके लिए ज़िंदगानी लुटा दी
वो जिनके लिए ज़िंदगानी लुटा दी
ये बैठे हुए है, मेरा दिल चुराए
ये बैठे हुए है, मेरा दिल चुराए
ज़माना ये समझा कि हम पी के आए, पी के आए

छुपोगे कहाँ तक? नज़र तो मिलाओ
छुपोगे कहाँ तक? नज़र तो मिलाओ
नज़र तो मिलाओ, नज़र तो मिलाओ
तुम्हारी बला से मेरी जान जाए
तुम्हारी बला से मेरी जान जाए
ज़माना ये समझा कि हम पी के आए, पी के आए

मोहब्बत में ऐसे क़दम डगमगाए
ज़माना ये समझा कि हम पी के आए, पी के आए

अनारकली

Related Posts