Tum Na Jane Kis Jahan Men Kho Gaye S. D. Burman Lyrics

Album Name Sazaa
Artist S. D. Burman
Track Name Tum Na Jane Kis Jahan Men Kho Gaye
Music S. D. Burman
Label Saregama
Release Year 1951
Duration 03:31
Release Date 1951-12-31

Tum Na Jane Kis Jahan Men Kho Gaye Lyrics

तुम ना जाने किस जहाँ में खो गए
तुम ना जाने किस जहाँ में खो गए
हम भरी दुनिया में तनहा हो गए
तुम ना जाने किस जहाँ में खो गए

मौत भी आती नहीं
आस भी जाती नहीं
दिल को ये क्या हो गया
कोई शय भाती नहीं

लूट कर मेरा जहाँ, छुप गए हो तुम कहाँ?
लूट कर मेरा जहाँ, छुप गए हो तुम कहाँ?
तुम कहाँ, तुम कहाँ, तुम कहाँ

तुम ना जाने किस जहाँ में खो गए

एक जाँ और लाख ग़म
घुट के रह जाए ना दम
आओ, तुम को देख लें
डूबती नज़रों से हम

लूट कर मेरा जहाँ, छुप गए हो तुम कहाँ?
लूट कर मेरा जहाँ, छुप गए हो तुम कहाँ?
तुम कहाँ, तुम कहाँ, तुम कहाँ

तुम ना जाने किस जहाँ में खो गए
हम भरी दुनिया में तनहा हो गए
तुम ना जाने किस जहाँ में खो गए

Related Posts